इस्‍टैड मैंडेट

सीएसआईआर-अंतर्राष्‍ट्रीय विज्ञान एवं प्रैद्योगिकी कार्य निदेशालय (सीएसआईआर-इस्‍टैड) के कार्यों में अन्य कार्यों के साथ-साथ निम्नवत शामिल हैं:-

  • अंतर्राष्‍ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सीएसआईआर को स्‍थापित करने हेतु केन्द्रीय बिंदु के रूप में कार्य करना;
  • लोकहित से जुड़ी समस्‍याओं के समाधान खोजने के लिए विशेष रूप से पड़ोसी देशों में तथा विकासशील देशों में सीएसआईआर की तकनीकी जानकारी तथा प्रौद्योगिकियों के अंतरण को सुगम बनाना;
  • विकासशील देशों के शोधकर्ताओं को अनुसंधान एवं उच्‍च शिक्षा के अवसर तथा उन्‍नत अन्‍वेषण/प्रशिक्षण उपलब्‍ध कराकर इन देशों में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के आधार को सुदृढ़ बनाना;
  • अंतर्राष्ट्रीय वैज्ञानिक एवं प्रौद्योगिकीय नेटवर्किंग एवं सहयोग स्थापित कर, संस्‍थानों के युग्‍म बनाकर तथा ऐसी ही अन्‍य समान पहलों के माध्‍यम से सीएसआईआर को अपने वैज्ञानिक एवं प्रौद्योगिकीय ज्ञानाधार को अंतर्राष्‍ट्रीय तौर पर प्रतिस्‍पर्धात्‍मक बनाने के लिए उसकी सहायता करना;
  • सीएसआईआर तंत्र को ऐसे अत्याधुनिक अंतर्राष्‍ट्रीय तौर पर प्रतिस्‍पर्धात्‍मक वैज्ञानिक एवं प्रौद्योगिकीय विकासों तथा भारत के लिए प्रासंगिक महत्‍वपूर्ण खोजों को निर्धारित करने व उनकी देखभाल करने में सहायता करना जिनसे सीएसआईआर के वर्तमान तथा भावी अनुसंधान और व विकास पहलों को रूप,आकार व ऊर्जा मिले;
  • सीएसआईआर और इसके बड़े विदेशी विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी भागीदारों के बीच तालमेल स्‍थापित करना व उसे मजबूत बनाना ताकि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के महत्‍वपूर्ण क्षेत्रों में सीएसआईआर की क्षमताओं का लाभ उठाया जा सके व उनमें समन्‍वयन स्‍थापित किया जा सके;
  • अंतर्राष्‍ट्रीय परियोजना निधियन के माध्‍यम से सीएसआईआर के लिए अतिरिक्‍त संसाधन जुटाना;
  • व्‍यवस्थित प्रशिक्षण के माध्‍यम से सीएसआईआर की आगतों को सक्रिय बनाना तथा महत्वपूर्ण क्षेत्रों में इसके वैज्ञानिकों को बनाए रखना और साथ ही सीएसआईआर की प्रयोगशालाओं की बृहत् प्रशिक्षक क्षमता का दोहन करने में सहायता करना ताकि अंतर्राष्‍ट्रीय भागीदारियों का निर्माण किया जा सके व उन्हें सुदृढ बनाया जा सके ।