सीएसआईआर - कोविड परियोजनाएं

कोरोनावायरस बीमारी 2019 (कोविड-19) की चल रही वैश्विक महामारी का कारण सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम कोरोनावायरस 2 ( सार्स - कोव - 2 ) है । विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 30 जनवरी 2020 को इसे प्रकोप अंतरराष्ट्रीय चिंता का लोक स्वास्थ्य आपातस्थिति घोषित कर दी और 11 मार्च 2020 को इसे वैश्विक महामारी की मान्यता दी ।

वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद ( सीएसआईआर ) ने देश में कोरोनोवायरस वैश्विक महामारी का सामना करने के लिए केंद्रित अनुसंधान एवं विकास जारी रखने के लिए स्वयं को उपयुक्त स्थिति में स्थापित किया ताकि आवश्यक प्रौद्योगिकी अंतराक्षेपों को विकसित, समेकित, स्केलअप और परिनियोजित किया जा सके । । कोरोनोवायरस द्वारा सृजित विविध समस्याओं जिन्हें कई क्षेत्रों में अंतराक्षेपों और बहु-आयामी रणनीति की आवश्यकता होती है, को ध्यान में रखते हुए सीएसआईआर ने वैश्विक महामारी के कारण उभरती स्थिति को संभालने के लिए पांच प्रौद्योगिकी वर्टिकल्स स्थापित किए हैं :

  1. डिजिटल और आणविक निगरानी;
  2. त्वरित एवं और किफायती नैदानिकी;
  3. ड्रग्स, वैक्सीन और कोन्वेलीसेंट प्लाज्मा थेरेपी का पुनर्नियोजन;
  4. अस्पताल सहायक उपकरण और पीपीई; तथा
  5. आपूर्ति श्रृंखला और लॉजिस्टिक्स सपोर्ट प्रणालियां।

इस समस्या की प्रकृति को ध्यान में रखते हुए, नवोन्मेष प्रबंधन निदेशालय ने निम्नलिखित क्षेत्रों में परियोजनाएं प्रस्तुत करने के लिए सीएसआईआर की प्रयोगशालाओं से प्रस्ताव आमंत्रित किए :

क : कोविड 19 हेतु नैदानिकी

कोविड मामलों का बड़े पैमाने पर परीक्षण करने के लिए लागत प्रभावी, त्वरित नैदानिकी विकसित करने के लिए सीएसआईआर की प्रयोगशालाओं से प्रस्ताव आमंत्रित किए गए थे । कोरोनावायरस का परीक्षण करने हेतु नैदानिकी की निम्नलिखित श्रेणियां प्रस्तावित की गई थी :

  1. क्रिस्पर / केस आधारित पेपर नैदानिकी;
  2. पीसीआर या कोई आरएनए/डीएनए आधारित नैदानिकी;
  3. एंटीजन - एंटीबॉडी आधारित नैदानिकी;

ख : कोविड 19 हेतु प्रोटेक्टिव गियर्स

कोविड मामलों के बड़े पैमाने पर फैलने को नियंत्रित करने के लिए प्रोटेक्टिव गियर्स को विकसित करने और परिनियोजित करने के लिए सीएसआईआर की प्रयोगशालाओं से प्रस्ताव आमंत्रित किए गए थे । प्रोटेक्टिव गियर्स की निम्नलिखित श्रेणियां प्रस्तावित की गईं :

  1. वेंटिलेटर, ऑक्सीजनेटर और अन्य सहायक उपकरण;
  2. सैनिटाइज़र और विसंक्रमक हेतु स्प्रे डिवाइसिस;
  3. हर्बल उत्पादों के साथ-साथ सैनिटाइजर और विसंक्रमक; तथा
  4. मास्क

ग : कोविड 19 हेतु ड्रग्स और एपीआई

सामान्यतया वायरसों का उपचार करना मुश्किल होता है, क्योंकि एंटीबायोटिक्स उन्हें नहीं मारते हैं । इस कारण से, बुजुर्गों और इम्यूनोकंप्रोमाइज्ड व्यक्तियों को अधिक जोखिम होता है । कोरोनावायरस ( और सामान्य रूप से वायरस ) से सबसे अच्छी प्राकृतिक सुरक्षा और उपचार एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली है । कुछ अणु और एपीआई जैसे हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन, एज़िथ्रोमाइसिन, रेमडेसिविर, लुपनिविरादि । कोरोना वायरस रोग के उपचार में उपयोगी पाए गए हैं । वायरल रोगों के लिए शुरू की गई या यहाँ तक कि असफल रही दवाओं की पुनः स्थितीयन, नए वायरस - विशिष्ट दवाओं और टीकों, और समानातीत लागत और नैदानिक उपलब्धता की टाइमलाइन के विकास की तुलना में बाजार के लिए सफलता की एक अधिक संभाव्यता सहित अद्वितीय रूपांतरित अवसर प्रदान करता है

एंटीवायरल या एपीआई का पुनर्नियोन एक सुखद दृष्टिकोण होगा और यदि प्रूफ ऑव कोंसेप्ट इसके क्रिया तंत्र को दृढ़तापूर्वक उचित ठहराता है तो इसका समर्थन किया जा सकता है ।

कोविड-19 के उपचार तथा नियंत्रण हेतु दवाओं का विकास करने और परिनियोजित करने हेतु सीएसआईआर की प्रयोगशालाओं से प्रस्ताव आमंत्रित किए गए थे । दवाओं की निम्नलिखित श्रेणियां प्रस्तावित की गईं :

  1. प्रोफाइलेटिक्स जैसे हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन;
  2. समुद्र के फाइटोफार्मा/ड्रग्स से गत सीएसआईआर नमूनों सहित रीपर्पजिंग; तथा
  3. मध्यवर्ती, एपीआई, फार्मुलेशन्स ।

घ : कोविड-19 हेतु वैक्सीन

प्रायोगिक कोविड - 19 वैक्सीन का मोडर्ना थेरात्युटिक्स परीक्षण किया जा रहा है । यद्यपि वैक्सीन का क्लिनिकल परीक्षण पूरा करने में कम से कम एक वर्ष लगेगा, यह कार्य इस बात की बहुमूल्य जानकारी प्रदान कर सकता है कि यदि इस वायरस के नए प्रकोप होने पर कैसे प्रतिरक्षा प्रणाली कोरोनावायरस से लड़ सकती है और वैज्ञानिकों को एक हेड स्टार्ट दे सकती है । भारत सहित पूरी दुनिया कोरोना वायरस के खिलाफ टीका विकसित करने का प्रयास कर रही है ।

इसके अलावा, हालांकि कोविड -19 के लिए वैक्सीन एक लंबा दृष्टिकोण है लेकिन ज्ञात वैक्सीन / अणुओं की रीपर्पजिंग के नए लागत प्रभावी तरीके जो संदिग्ध कोविड मामलों में प्रतिरक्षा बढ़ा सकते हैं या गंभीर कोविड मामलों को स्वीकार कर सकते हैं, स्वीकार्य हैं । हालांकि इस तरह की वैक्सीनों का फास्ट ट्रैक विकास उचित ठहराने के लिए प्रूफ ऑफ कोंसेप्ट अपेक्षित है ।

कोविड-19 नियंत्रित करने हेतु वैक्सीन विकसित करने के लिए सीएसआईआर की प्रयोगशालाओं से प्रस्ताव आमंत्रित किए गए थे । वैक्सीनों की निम्नलिखित श्रेणियां प्रस्तावित की गईं :

  1. नई वैक्सीन; तथा
  2. पुनः पुनर्नियोजित वैक्सीन ।

वित्त वर्ष 2020 – 21 में अनुमोदित और क्रियान्विनाधीन परियोजनाएं निम्नांकित हैं :

डायग्नोस्टिक्स वर्टिकल
क्र.सं. परियोजना का नाम
1. डवलपमेंट ऑफ ए रैपिड नैनोपार्टिकल्स बेस्ड इम्यूनोऐसे फॉर सार्स-कोव-2 इन्फेक्शन अर्ली एंड लेट फेज सीरोलॉजिकल
2. बैक्टीरियोफेज रिकांबिनेशन –एंड क्रिस्पर-बेस्ड कंबाइंड ऐरे सिस्टम एंड सार्स-कोव 2-स्पाइक प्रोटीन-बेस्ड सीरोलॉजिकल ऐसे टू डिटेक्ट कोविड-19 इन्फेक्शन
3. डवलपमेंट ऑफ नैनोबॉडी/mAb बेस्ड एलिसा फॉर कोविड-19 डिटेक्शन
4. एनजीएस बेस्ड डायग्नोस्टिक्स फॉर कोविड-19
5. डायग्नोसिस ऑफ कोविड-19 एट सीएसआईआर-आईआईसीबी एन पार्ट ऑफ द सीएसआईआर-डिजिटल सर्विलांस वर्टिकल
6. डवलपमेंट ऑफ सेंसिटिव, कॉस्ट इफेक्टिव, ईजी टू यूज डिपिस्टिक किट फॉर द प्रेसाइज डिटेक्शन ऑफ कोविड-19 इन्फेक्शंस
7. डवलपमेंट ऑफ एप्टामर फॉर रिकांबिनेंट सार्स-कोव-2 स्पाइक ग्लाइकोप्रोटीन-एस1
8. डवलपमेंट ऑफ फ्लोरोसेंट प्रोब्स, क्वेंचर्स एंड देयर ऑलिगोन्यूक्लियोटाइड कांज्यूगेट्स फॉर आरटी-पीसीआर एंड लेटरल फ्लो ऐसे बेस्ड कोविड-19 डायग्नोसिस
9. ए हाई थ्रूपुट स्क्रीनिंग किट फॉर कोविड-19
10. सीरोलॉजिकल टेस्ट फॉर कोविड-19 एक्सपोजर एट पॉपुलेशन लेवल
11. मल्टीप्लेक्स्ड लेटरल –फ्लो डिवाइस (डिवाइसेज) फॉर डिटेक्शन ऑफ कोविड-19
12. सार्स-कोव-2 : सेंसिंग स्वीट स्पॉट्स
13. स्टैंडर्डाइजेशन ऑफ एक्सप्रेशन एंड प्योरिफिकेशन ऑफ हाइली एंटीजेनिक रिकांबिनेट सार्स-कोव-2 स्पाइक, एस1 और एन प्रोटीन्स यूजिंग ममेलियन एक्सप्रेशन सिस्टम फॉर द डाउनस्ट्रीम यूसेज एज एंटीजंस फॉर प्रेपरेशन ऑफ सेरोलॉजी –बेस्ड डायग्नोस्टिक किट
डिजिटल एवं आणविक निगरानी वर्टिकल
14. इंटीग्रेटिव जीनोमिक्स ऑफ कोविड-19( इनजेन-कोव-2)
15. ए लांग-टर्म लांगिट्यूडिनल ऑब्जर्वेशनल कोहार्ट स्टडी ऑफ हैल्थ आउटकम्स –प्रेपरेटरी फेज
16. जीनोम सीक्वेंसिंग ऑफ सार्स-कोव-2 सैम्पल्स फ्रॉम लखनऊ/उत्तर प्रदेश
17. टेस्टिंग फॉर कोविड-19 इन वेस्ट वॉटर एज ए कम्युनिटी सर्विलांस मैजर
ड्रग्स वर्टिकल
18. इवैल्युएटिंग सार्स-कोव-2 मेन प्रोटिएज (Mpro) इन्हिबिटर्स आईडेंटिफाइड फ्रॉम द लाइब्रेरी ऑफ एफडीए अप्रूव्ड ड्रग्स एंड नॉवल सीएसआईआर मॉलिक्यूल्स
19. डवलपमेंट ऑफ इन विट्रो रिपोर्टर बेस्ड ऐसे सिस्टम फॉर टीएमपीआरएसएस 2 सेरीन प्रोटिएज मीडिएटेड कोविड-19 स्पाइक प्रोटीन क्लीवेज एंड स्क्रीनिंग सेरीन प्रोटिएज इन्हिबिशन
20. सेटिंग अप ए स्मॉल मॉलिक्यूल कंपाउंड लाइब्रेरी स्क्रीनिंग प्लेटफॉर्म फॉर ह्यूमन सेरीन प्रोटिएज टीएमपीआरएसएस2 एंड सार्स-कोव-2 RdRp
21. ऑगमेंटिंग इम्यूनोजेनिक रिस्पांस टू कोविड-19 विद रिकांबिनेंट बीसीजी (एयर कवर-बीसीजी)
22. पेक्टिन डिराइव्ड प्रीबायोटिक्स एज एडजुवेंट्स फॉर प्रोफाइलेक्टिक ट्रीटमेंट ऑफ कोविड-19 एंड अदर सिमिलर वाइरस डिजीजेज
23. इवैल्युएशन ऑफ कैंडिडेट एफडीए-अप्रूव्ड ड्रग्स, कैंडिडेट्स फ्रॉम लाइब्रेरी ऑफ नॉन-टॉक्सिक कंपाउंड्स दैट हैव बीन प्री-क्लिनिकली क्लियर्ड एंड स्पेशिफिक फाइटोफार्मास्युटिकल्स फॉर रीपर्पजिंग अगेन्स्ट कोविड-19 इंफेक्शन
24. रीपर्पजिंग ऑफ कोल्चीसिन फॉर मैनेजमेंट ऑफ कोविड-19 पेशेंट्स
25. डवलपमेंट ऑफ जिंक ग्लूकोनेट-विटामिन सी फार्मुलेशन फॉर इम्युनिटी इम्प्रूवमेंट एंड मैनेजमेंट ऑफ कोरोना वाइरस डिजीज (कोविड-19)
26. सेटिंग अप ऑफ एंटी- कोविड-19 स्क्रीनिंग सेल कल्चर प्लेटफॉर्म
27. एन ओपन लेबल रैंडमाइज़्ड प्लेसिबो-कंट्रोल्ड ट्रायल ऑन पैसिव इम्युनाइजेशन विद कॉनवैलेसेंट प्लाज़्मा इन सीवियर कोविड-19 डिजीज
28. Dडवलपमेंट ऑफ ड्रग-टार्गेट बेस्ड ऐसे प्लेटफॉर्म्स एंड स्क्रीनिंग अगेन्स्ट कोविड-19
29. क्लिनिकल ट्रायल्सः फेज 3, रैंडमाइज्ड, डबल –ब्लाइंड, कंपरेटिव ट्रायल ऑफ एफिकेसी, सेफ्टी एंड टॉलरेबिलिटी ऑफ यूमिफेनोविर एंड हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन कांबिनेशन थैरेपी वर्सेस हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन थैरेपी इन नॉन-सीवियर कोविड-19 पेशेंट्स
30. डवलपमेंट ऑफ प्रूफ ऑफ कॉन्सेप्ट वैक्सीन स्ट्रैटजीज फॉर कोविड-19
अस्पताल सहायक उपकरण वर्टिकल
31. डवलपमेंट ऑफ अल्ट्रासेंसिटिव, रैपिड एंड पोर्टेबल सिस्टम फॉर कोविड-19 स्क्रीनिंग यूजिंग लेबल-फ्री रमन फिंगर-प्रिंटिंग एंड एआई
32. डिजाइन एंड डवलपमेंट ऑफ एंटीमाइक्रोबियल कोटेड 3 डी प्रिंटेबल फेस शील्ड टू प्रोटेक्ट फ्रॉम कोविड-19
33. रेस्पिरेशन असिस्टेंस इंटरवेंशन डिवाइसः ए पोर्टेबल वेंटिलेटर (रेस्पि-एआईडी)
34. बायोसेंसर डवलपमेंट फॉर कोविड-19 डायग्नोसिस
35. डिजाइन, डवलपमेंट, सर्टिफिकेशन एंड कॉमर्शियलाइजेशन ऑफ BiPAP-नॉन इनवेसिव वेंटिलेटर फॉर कोविड-19
36. सीएसआईआर इनीशिएटिव ऑन रीसाइकलिंग ऑफ कोविड-19 प्लास्टिक वेस्ट फ्रॉम टेस्टिंग फैसिलिटी

एक अन्य क्षेत्र जहां सीएसआईआर वैश्विक महामारी की वजह से उभरती स्थिति का समाधान कर रहा है, वहीं कोरोनावायरस हेतु आरटी- पीसीआर और सीरोलॉजिकल परीक्षण में भारत को आत्मनिर्भर बना रहा है । सीएसआईआर भारत में इन अभिकर्मकों को बनाने के लिए भारतीय उद्योग को सहायता प्रदान करने का प्रयास कर रहा है । रियल - टाइम रिवर्स ट्रांस्क्रिप्शन - पोलीमरेज़ चैन रिएक्शन ( आरटी - पीसीआर ) मानदंड सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम एसोसिएटेड कोरोना वायरस ( सार्स - कोव) के त्वरित संसूचनार्थ उपयोग किए जाते हैं । रियल टाइम आर टी - पीसीआर मानदंड परंपरागत आर टी-पीसीआर या कल्चर आइसोलेशन से अधिक संवेदनशील हैं और चिकित्सीय नमूनों में सार्स-कोव का पता लगाने के लिए उपयुक्त है । आरटी - पीसीआर मानदंड का परीक्षण करने के लिए कई अभिकर्मकों की आवश्यकता होती है । ये अभिकर्मक हैं : आरएनए अलगाव किट कॉम्पोनेंट, रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन और डिटेक्शन सिस्टम के साथ रियल टाइम पीसीआर हैं । इनमें से अधिकांश अभिकर्मक आयात किए जाते हैं और भारत में सीमित मात्रा में उपलब्ध हैं ।

इस दिशा में, सीएसआईआर ने अपने सहयोग के लिए उद्योगों और स्टार्ट-अप्स से पीपीपी मोड में प्रस्ताव आमंत्रित किए हैं ।

सीएसआईआर प्रयोगशाला सीएसआईआर-सीडीआरआई की भागीदारी से बायोटेक डेस्क प्राइवेट लिमिटेड, हैदराबाद द्वारा ‘सभी मेक इन इंडिया अवयवों सहित कोविड-19 के परीक्षणार्थ स्वदेशी क्यूआरटी-पीसीआर (आईएनडीआई-फ्लूओर एएमपी) किट का स्वदेशी उत्पादन’ संबंधी प्रस्ताव का चयन किया गया ।

वित्त वर्ष 2021 – 22 में क्रियान्विनाधीन परियोजनाएं निम्नांकित हैं :

1. रीकॉम्बिनेंट बीसीजी (एयरकोवीआर-बीसीजी) के साथ COVID19 के लिए इम्यूनोजेनिक प्रतिक्रिया बढ़ाना Augmenting immunogenic response to COVID19 with recombinant BCG (AIRCOVR-BCG)
2. मेजबान रोगजनक तंत्र को लक्षित करके COVID-19 संक्रमण की गंभीरता को दबाने के लिए एंड्रोग्राफिस आधारित चिकित्सा Andrographis based therapy to suppress the severity of the COVID-19 infection by targeting host pathogenic mechanisms
3. भारतीय शोधकर्ताओं के लिए COVID-19 अनुसंधान समर्थन के लिए सीएसआईआर में एचपीसी क्लाउड संसाधन HPC cloud resource at CSIR for COVID-19 research support for Indian researchers
4. कोरोना नमूना परीक्षण Corona Sample Testing
5. वैक्सीन और बायोथेराप्यूटिक्स के लिए एमआरएनए प्लेटफॉर्म mRNA Platforms for Vaccine and Biotherapeutics
6. COVID-19 के लिए Integrative GENomics (INGEN-CoV2) INtegrative GENomics of COVID-19 (INGEN-CoV2)
7. COVID-19 के लिए सीएसआईआर बहु केंद्रित जीनोम निगरानी CSIR Multi-centric Genome Surveillance for COVID-19
8. COVID-19 रोगियों के प्रबंधन के लिए कोल्चिसिन का पुनर्परिवर्तन Repurposing of colchicine for management of COVID-19 patients
9. कोरोना वायरस रोग (COVID-19) के प्रतिरक्षा सुधार और प्रबंधन के लिए जिंक ग्लूकोनेट-विटामिन सी सूत्रीकरण का विकास Development of Zinc gluconate-Vitamin C formulation for immunity improvement and management of Corona Virus Disease (COVID-19)
10. उच्च थ्रूपुट एंटीवायरल स्क्रीनिंग और परीक्षण द्वारा कोरोनावायरस और इसके वेरिएंट का संवर्धन तथा शक्तिशाली सार्स-CoV-2 अवरोधकों की खोज Culturing of coronavirus and its variants and discovery of potent SARS-CoV-2 inhibitors assisted by High throughput antiviral screening and testing facility
11. समग्र भारतीय टेस्टिंग लैब में ड्राई-स्वैब आधारित आरटी-पीसीआर कोविड-19 डायग्नोस्टिक्स का कार्यान्वयन Implementation of Dry-Swab Based RT-PCR Covid-19 Diagnostics in testing labs, Pan India
12. COVID-19 के लिए वैक्सीन रणनीतियों की अवधारणा के प्रमाण का विकास Development of proof of concept vaccine strategies for COVID-19
13. COVID-19 के लिए बीपीएपी-नॉन इनवेसिव वेंटिलेटर का डिजाइन, विकास, प्रमाणन और व्यावसायीकरण Design, Development, Certification and Commercialization of BiPAP–Non Invasive Ventilator for COVID-19
14. सामुदायिक निगरानी उपाय के रूप में अपशिष्ट जल में COVID-19 के लिए परीक्षण Testing for COVID-19 in wastewater as a community surveillance measure
15. COVID-19 के लिए सीएसआईआर बहु केंद्रित पोस्ट टीकाकरण प्रतिरक्षा निगरानी (PoV-CoV) CSIR Multi-centric Post-Vaccination Immune monitoring for COVID-19 (PoV-CoV)
16. परीक्षण सुविधा से COVID-19 प्लास्टिक कचरे के रीसाइक्लिंग पर सीएसआईआर पहल CSIR Initiative on recycling of COVID-19 plastic waste from Testing Facility
17. COVID-19 का पता लगाने के लिए मल्टीप्लेक्स्ड पार्श्व-प्रवाह डिवाइस Multiplexed lateral-flow device(s) for detection of COVID-19
18. सार्स-CoV-2: सेंसिंग स्वीट स्पॉटस् SARS-CoV-2: Sensing Sweet Spots
19. स्वास्थ्य परिणामों का एक दीर्घकालिक अनुदैर्ध्य अवलोकन पलटन अध्ययन-तैयारी चरण A long-term longitudinal observational cohort study of health outcomes-Preparatory Phase
20. पैन सीएसआईआर एयर सैंपलिंग डिवाइस Pan CSIR Air Sampling Device
21. पैन सीएसआईआर क्लीन एयर डिवाइसेज Pan CSIR Clean Air Devices

बोल्ड में दर्शाई गयी परियोजनाएं नई हैं और कार्यान्वयन की प्रक्रिया में हैं
Projects in Bold are new and in process of implementation