ISTAD

ऐसे प्रस्‍तावों को अनुमोदन प्रदान करने के लिए सक्षम प्राधिकारी कौन है ?

अनुमानित व्‍यय 40 लाख से कम होने की स्थिति में प्रस्‍तावों को मंजूरी देने का अधिकार संबंधित मंत्री को होता है । यदि व्‍यय 40.0 लाख रुपये (सरकारी निधि) से अधिक है, तो प्रस्‍तावों को व्‍यय विभाग की स्‍वीकृति की आवश्‍यकता होती है और इस तरह के प्रस्‍तावों को आयोजन की तारीख से कम से कम एक माह पूर्व और निमंत्रण पत्र जारी होने से पूर्व वित्‍त मंत्रालय के समक्ष प्रस्‍तुत करने की आवश्‍यकता होती है ।

क्‍या प्रस्‍तावों को इस्‍टैड (ISTAD) द्वारा कार्रवाई की जा सकती है जब
  1. (क) सीएसआईआर संस्‍थान प्रधान आयोजक नहीं है और (ख) समग्र निधियां सीएसआईआर संस्‍थान के बैंक खाते से संचालित नहीं होती हैं ?
  2. नहीं । इस्‍टैड आवश्‍यक क्‍लीयरेंस के लिए प्रस्‍ताव को तभी आगे बढ़ा सकता है यदि (क) सीएसआईआर संस्‍थान प्रमुख आयोजक हो और (ख) समग्र निधियां संस्‍थान के मौजूदा बैंक खाते से संचालित हों ।
किस प्रकार की परियोजनाओं को सुरक्षा संवेदनशीलता क्‍लीयरेंस की आवश्‍यकता होती है ?

ऐसी सभी अनुसंधान परियोजनाएं, जिनमें किसी भी रूप में विदेशी सहयोग शामिल होता है, उनके कार्यान्‍वयन से पूर्व सुरक्षा/संवेदनशीलता क्‍लीयरेंस की आवश्‍यकता होती है ।

सुरक्षा संवेदनशीलता क्‍लीयरेंस प्रदान करने के लिए सक्षम प्राधिकारी कौन है ?

संबंधित एजेंसी के प्रशासनिक मंत्रालय का सचिव सक्षम प्राधिकारी होता है । सीएसआईआर के मामले में, सचिव, डीएसआईआर विदेशी भागीदारों/सहयोगियों से जुड़ी अनुसंधान परियोजनाओं को सुरक्षा संवेदनशीलता क्‍लीयरेंस प्रदान करते हैं ।

सुरक्षा/संवेदनशीलता क्‍लीयरेंस हेतु कार्रवाई करने के लिए कौन से दस्‍तावेज़/सूचना की आवश्‍यकता होती है ?

निम्‍नांकित सूचना/दस्‍तावेज़ों की आवश्‍यकता होती है:

  1. निधियन एजेंसी को प्रस्‍तुत किए गए प्रस्‍ताव की प्रति
  2. चेक लिस्‍ट और परियोजना सारांश के लिए भरा हुआ प्रोफार्मा
  3. सीएसआईआर के संबंधित संस्‍थान के निदेशक का प्रमाण पत्र
  4. प्रायोजक एजेंसी की अनुशंसा/सैद्धान्तिक रूप से दिया गया अनुमोदन
  5. उन प्रस्‍तावों के लिए निमंत्रण, जिनके लिए प्रस्‍ताव प्रस्‍तुत किया गया था
  6. परियोजना से अपेक्षित वास्‍तविक ठोस परिणाम और परिभाषित प्रौद्योगिकीय आउटपुट सहित संभावित योगदान
  7. आईपीआर से संबंधित मुद्दों के प्रबंधन हेतु उपाय
  8. संवेदनशील डेटा/जानकारी/सामग्री आदि को साझा करने के लिए उपयुक्‍त प्राधिकारी से प्राप्‍त क्‍लीयरेंस की प्रति
सीएसआईआर प्रयोगशालाओं/संस्‍थानों में विदेशी विशेषज्ञों/अनुसंधानकर्ताओं/छात्रों के भ्रमण हेतु अनुमोदन प्राप्‍त करने की क्‍या आवश्‍यक होता है ?

सीएसआईआर/प्रयोगशालाओं के लिए विदेशी नागरिकों के सभी प्रकार के भ्रमण हेतु भारत सरकार के संबंधित मंत्रालयों/विभागों (एमईए/एमएचए, जो भी लागू हो) की पूर्व क्‍लीयरेंस आवश्‍यक होता है ।

(क) सीएसआईआर/प्रयोगशालाओं/भारत सरकार के द्धिपक्षीय/बहुपक्षीय/अंतर-संस्‍थागत सहयोग व्‍यवस्‍थाओं के अंतर्गत विभिन्‍न गतिविधियों और (ख) सीएसआईआर/प्रयोगशालाओं द्वारा आयोजित अंतर्राष्‍ट्रीय सम्मेलनों में भागीदारी हेतु सीएसआईआर प्रयोगशालाओं/संस्‍थानों में विदेशी नागरिकों के भ्रमण को महानिदेशक, सीएसआईआर द्वारा अनुमोदित किया जाएगा । आमंत्रित करने वाली सीएसआईआर प्रयोगशाला/संस्‍थान के निदेशक द्वारा विधिवत अनुमोदित और प्रयोगशाला/संस्‍थान के आईएसटीएजी (ISTAG) द्वारा अग्रेषित भ्रमण प्रस्‍तावों को सीएसआईआर-इस्‍टैड को कम से कम 1-2 माह पूर्व भेजा जाए ।

सीएसआईआर/प्रयोगशालाओं/भारत सरकार के किसी भी द्धिपक्षीय/बहुपक्षीय/अंतर-संस्‍थागत कार्यक्रमों और अंतर्राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन में भागीदारी के अंतर्गत न आने वाले विदेशी नागरिकों के सीएसआईआर प्रयोगशालाओं/संस्‍थानों में भ्रमण को संबंधित सीएसआईआर प्रयोगशाला/संस्‍थान के निदेशक द्वारा अनुमोदित किया जाए । ऐसे भ्रमण सहयोगों की खोज/विचार-विमर्श करने, विशेषज्ञों के रूप में व्‍याख्‍यान देने/वार्ता करने, अनुसंधान यात्राओं में प्रतिभागिता (एक देश से केवल 2 लोगों तक) के प्रयोजन हेतु अल्‍पावधि (15 दिनों तक) के हों और बाहरी एजेंसी के प्रायोजन के अंतर्गत अथवा अपनी व्‍यक्तिगत क्षमता से अनुसंधान अध्‍ययन/प्रशिक्षण/फेलोशिप/इंटर्नशिप इत्‍यादि के प्रयोजन हेतु दीर्घावधि के हों । तथापि, भारत सरकार के मंत्रालयों/विभागों (एमईए/एमएचए, जो भी लागू हो) की पूर्व क्‍लीयरेंस लेने प्राप्‍त करना अनिवार्य है । भारत सरकार की क्‍लीयरेंस लेने के लिए इस तरह के प्रस्‍ताव सीएसआईआर-इस्‍टैड को भेजे जा सकते हैं ।

Pages